Tag: dhatu rog ka desi ilaj

Dhatu Rog Ko Ayurvedic Upchar Se Kaise Thik Karen

Dhatu Rog Ko Ayurvedic Upchar Se Kaise Thik Karen

ये आयुर्वेदिक उपाय करें, भूल जाओगे धातु रोग! धातु रोग(Spermatorrhea)- किसी पुरूष के मन में कामेच्छा जागृत होने पर या अति उत्तेजना में आकर उसके लिंग में स्वतः ही सख्तपन व तनाव आ जाना स्वाभाविक प्रक्रिया है। यह कामेच्छा की भावना इतनी प्रबल होती है कि व्यक्ति के पुरूषांग के मुखाने से पानी के समान पतला-सा …

+ Read More

Dhatu Rog Ko Door Karne Ke Liye Ayurvedic Upchar

Dhatu Rog Ko Door Karne Ke Liye Ayurvedic Upchar

पौरूष ग्रंथि से तरल स्राव निकलना, धातु रोग, शुक्रमेह (Prostatorrhea) परिचय- पुरूषेन्द्रिय(लिंग, Peins) से पानी जैसा चिपचिपा स्राव निकलना ही इस रोग का परिचायक है। कारण- मूत्र मार्ग या गुदा में खराश होना, पाचन संस्थान की गड़बड़ी, अति कामोत्तेजना, कब्ज़, उदर कृमि(पेट के कीड़े), मूत्राशय में पथरी, बार-बार लिंग को सहलाना, अश्लील चित्र देखना, अश्लील …

+ Read More

Dhatu Rog Ko Dur Karne Ka Desi Ayurvedic Upchar

Dhatu Rog Ko Dur Karne Ka Desi Ayurvedic Upchar

धातु रोग, शुक्रपात (Spermatorrhoea) अत्यधिक कामवासना जागने पर अथवा उत्तेजित होने पर पुरूष के गुप्तांग में स्वतः ही कड़ापन(तनाव) आ जाता है और पुरूष संभोग के लिए लालायित होने लगता है। इस स्थिति में पुरूष के शिश्न के अग्र भाग में पानी के रंग जैसा पतला व चिपचिपा तरल(लेस) प्रदर्शित होने लगता है, किन्तु इसकी मात्रा …

+ Read More

Dhat Girna Ki Samasya Ko Karen Pura Jad Se Khatam

Dhat Girna Ki Samasya Ko Karen Pura Jad Se Khatam

धातु रोग, प्रमेह(Spermatorrhoea)- पुरूषों में बिना इच्छा के मल-मूत्र के दौरान हल्का-सा जोर या दबाव देने पर वीर्य पतले पानी के रूप में टकपने लगता है, जिसे धातु रोग या प्रमेह कहा जाता है। जब बहुत ज्यादा सेक्स के या फिर अश्लील विचारों के बारे में सोचते रहने से उत्तेजनावश एकाएक लिंग में तनाव आने …

+ Read More

Dhat Girna Ki Samasya ka Desi Gharelu Samadhaan

Dhat Girna Ki Samasya ka Desi Gharelu Samadhaan

‘धात गिरना’ की समस्या का देसी घरेलू समाधान धातु रोग- बिना इच्छा के मल-मूत्र के समय हल्का-सा जोर लगाने पर पतला-पतला द्रव्य निकल जाता है, जिसे धातु रोग कहते हैं। धातु जाने की समस्या को शुक्रमेह के नाम से भी जाना जाता है। लेकिन ये होता किस वजह से है, यह बात समझना भी सरल …

+ Read More

Dhat Girne Ki Samasya Ko Ayurved Se Kare Door धात गिरने की समस्या को आयुर्वेद से करें दूर

Dhat Girne Ki Samasya Ko Ayurved Se Kare Door धात गिरने की समस्या को आयुर्वेद से करें दूर

धातु रोग परिचय- पाचन विकारों के कारण वृक्कों में क्षारीय वस्तुओं की मात्रा बढ़ जाती है। वृक्कों के छिद्र क्षार की अधिकता से आंशिक रूप से गलकर चैड़े हो जाते हैं, जिससे वृक्क पहले की भांति कार्य नहीं कर करते हैं। अतः अजीर्ण या अपच से बिना पचे पदार्थ मूत्र के साथ अनेक रंगों में …

+ Read More

Dhatu Rog Me Apnayen Ye Prakritik Upay धातु रोग में अपनाएं ये प्राकृतिक उपाय

Dhatu Rog Me Apnayen Ye Prakritik Upay धातु रोग में अपनाएं ये प्राकृतिक उपाय

Dhatu Rog Me Apnayen Ye Prakritik Upay धातु रोग- हिकमत में इसको जरयान, डाॅक्टरी में स्परमेटोरिया कहते हैं। वीर्य प्रमेह के निम्नलिखित प्रकार होते हैं:- 1. वीर्य प्रमेह, धातु बहना, स्परमेटोरिया(Spermatorrhoea)। 2. प्राॅस्टेटोरिया(Prostatorrhoea)- इस रोग में मूत्र-मार्ग से सफेद तरल निकलता है। 3. यूरेथ्रोरिया(Urethrorrhoea)- मूत्र-मार्ग से गंदा तरल आना। परिभाषा- मैथुन की इच्छा के बिना …

+ Read More

स्त्रियों का धात गिरना, कारण, लक्षण और उपाय Striyon Ka Dhat Girna, Karan, Lakshan Aur Upay

स्त्रियों का धात गिरना, कारण, लक्षण और उपाय Striyon Ka Dhat Girna, Karan, Lakshan Aur Upay

स्त्रियों की जननेन्द्रिय से चिपचिपा, सफेद तरल स्राव आने को श्वेत प्रदर धातु गिरना कहते हैं। जब इसके साथ रक्त भी मिला होता है, तो इसे रक्तप्रदर कहते हैं। स्त्रियों में धात गिरने के कारण: यह अपने आप में कोई स्वतंत्र रोग नहीं है, बल्कि अन्य रोगों या रोग के साथ लक्षण के रूप में …

+ Read More

धातु रोग की समस्या का उपचार Dhatu Rog Ki Samasya Ka Upchar

धातु रोग की समस्या का उपचार Dhatu Rog Ki Samasya Ka Upchar

धातु गिरना: बिना इच्छा के अपने आप वीर्य का निकल जाना ही धातु रोग कहलाता है। मूत्र के दौरान वीर्य निकल जाने की समस्या भी ऐसे रोगी के अंदर देखी जाती है। जब किसी पुरुष का लिंग उत्तेजित अवस्था में होता है यानी कठोर हो जाता है, तो उस दौरान जरा-सी मात्रा में उसके लिंग …

+ Read More