Tag: dhatu rog in female in hindi

Dhatu Rog Ko Dur Karne Ka Desi Ayurvedic Upchar

Dhatu Rog Ko Dur Karne Ka Desi Ayurvedic Upchar

धातु रोग, शुक्रपात (Spermatorrhoea) अत्यधिक कामवासना जागने पर अथवा उत्तेजित होने पर पुरूष के गुप्तांग में स्वतः ही कड़ापन(तनाव) आ जाता है और पुरूष संभोग के लिए लालायित होने लगता है। इस स्थिति में पुरूष के शिश्न के अग्र भाग में पानी के रंग जैसा पतला व चिपचिपा तरल(लेस) प्रदर्शित होने लगता है, किन्तु इसकी मात्रा …

+ Read More

Dhat Girne Ki Samasya Ko Ayurved Se Kare Door धात गिरने की समस्या को आयुर्वेद से करें दूर

Dhat Girne Ki Samasya Ko Ayurved Se Kare Door धात गिरने की समस्या को आयुर्वेद से करें दूर

धातु रोग परिचय- पाचन विकारों के कारण वृक्कों में क्षारीय वस्तुओं की मात्रा बढ़ जाती है। वृक्कों के छिद्र क्षार की अधिकता से आंशिक रूप से गलकर चैड़े हो जाते हैं, जिससे वृक्क पहले की भांति कार्य नहीं कर करते हैं। अतः अजीर्ण या अपच से बिना पचे पदार्थ मूत्र के साथ अनेक रंगों में …

+ Read More

Dhatu Rog Or Dhatu Durbalta Ko Kare Door धातु रोग और धातु दुर्बलता को करें दूर

Dhatu Rog Or Dhatu Durbalta Ko Kare Door धातु रोग और धातु दुर्बलता को करें दूर

Dhatu Rog Or Dhatu Durbalta Ko Kare Door धातु रोग- धातु रोग में पुरूष का वीर्य बिना कामेच्छा के निकल(वीर्य का रिसना व बहना) जाता है। ज्यादातर ऐसा स्वप्न में या फिर मल-मूत्र त्याग के दौरान होता है। धातु दुर्बलता- शारीरिक या मानसिक असंतुलन में शरीर के अंदर शुक्र का निर्माण नहीं हो पाता है। …

+ Read More