Tag: dhat rog me parhej

Dhatu Rog Ko Door Karne Ke Liye Ayurvedic Upchar

Dhatu Rog Ko Door Karne Ke Liye Ayurvedic Upchar

पौरूष ग्रंथि से तरल स्राव निकलना, धातु रोग, शुक्रमेह (Prostatorrhea) परिचय- पुरूषेन्द्रिय(लिंग, Peins) से पानी जैसा चिपचिपा स्राव निकलना ही इस रोग का परिचायक है। कारण- मूत्र मार्ग या गुदा में खराश होना, पाचन संस्थान की गड़बड़ी, अति कामोत्तेजना, कब्ज़, उदर कृमि(पेट के कीड़े), मूत्राशय में पथरी, बार-बार लिंग को सहलाना, अश्लील चित्र देखना, अश्लील …

+ Read More

Dhatu Rog Ko Dur Karne Ka Desi Ayurvedic Upchar

Dhatu Rog Ko Dur Karne Ka Desi Ayurvedic Upchar

धातु रोग, शुक्रपात (Spermatorrhoea) अत्यधिक कामवासना जागने पर अथवा उत्तेजित होने पर पुरूष के गुप्तांग में स्वतः ही कड़ापन(तनाव) आ जाता है और पुरूष संभोग के लिए लालायित होने लगता है। इस स्थिति में पुरूष के शिश्न के अग्र भाग में पानी के रंग जैसा पतला व चिपचिपा तरल(लेस) प्रदर्शित होने लगता है, किन्तु इसकी मात्रा …

+ Read More

Ab Dhatu Rog Hoga Door, Bas Apnayen Ye Desi Nuskhe अब धातु रोग होगा दूर, बस अपनाएं ये देसी नुस्खे

Ab Dhatu Rog Hoga Door, Bas Apnayen Ye Desi Nuskhe अब धातु रोग होगा दूर, बस अपनाएं ये देसी नुस्खे

धातु रोग, प्रमेह (Spermatorrhoea)- वात, पित्त और कफ़ जैसे दोषों के कुपित होने से पाचन संस्थान प्रभावित होता है, साथ ही चिकने, गाढ़े, सफेद और लेसदार(चिपचिपा) स्राव मूत्र के साथ जो आता है, उसे ‘प्रमेह’ यानी धात  जाने की समस्या कहा जाता है। इससे स्पष्ट है कि धात गिरने की समस्या का मूल कारण ‘पाचन …

+ Read More