Tag: dhat rog ka gharelu ilaj

Dhat Girna Ki Samasya Ko Karen Pura Jad Se Khatam

Dhat Girna Ki Samasya Ko Karen Pura Jad Se Khatam

धातु रोग, प्रमेह(Spermatorrhoea)- पुरूषों में बिना इच्छा के मल-मूत्र के दौरान हल्का-सा जोर या दबाव देने पर वीर्य पतले पानी के रूप में टकपने लगता है, जिसे धातु रोग या प्रमेह कहा जाता है। जब बहुत ज्यादा सेक्स के या फिर अश्लील विचारों के बारे में सोचते रहने से उत्तेजनावश एकाएक लिंग में तनाव आने …

+ Read More

Dhat Girne Ki Samasya Ko Ayurved Se Kare Door धात गिरने की समस्या को आयुर्वेद से करें दूर

Dhat Girne Ki Samasya Ko Ayurved Se Kare Door धात गिरने की समस्या को आयुर्वेद से करें दूर

धातु रोग परिचय- पाचन विकारों के कारण वृक्कों में क्षारीय वस्तुओं की मात्रा बढ़ जाती है। वृक्कों के छिद्र क्षार की अधिकता से आंशिक रूप से गलकर चैड़े हो जाते हैं, जिससे वृक्क पहले की भांति कार्य नहीं कर करते हैं। अतः अजीर्ण या अपच से बिना पचे पदार्थ मूत्र के साथ अनेक रंगों में …

+ Read More

धातु रोग की समस्या का उपचार Dhatu Rog Ki Samasya Ka Upchar

धातु रोग की समस्या का उपचार Dhatu Rog Ki Samasya Ka Upchar

धातु गिरना: बिना इच्छा के अपने आप वीर्य का निकल जाना ही धातु रोग कहलाता है। मूत्र के दौरान वीर्य निकल जाने की समस्या भी ऐसे रोगी के अंदर देखी जाती है। जब किसी पुरुष का लिंग उत्तेजित अवस्था में होता है यानी कठोर हो जाता है, तो उस दौरान जरा-सी मात्रा में उसके लिंग …

+ Read More